Live Reporting from Hostel के छत से…

 

भुभउ भुभउ……..पीउभभउु भू-भू-भू…….” कुत्ते रहरह कर भोक रहे हैं..! कुछ इन भू-भू-भू और भुभउ भुभउ के ज़रिये अपनी-अपनी जानेमन कुतिया के लिए प्यार का इजहार कर रहे हैं और कुछ प्यार पाने के लिए लड़ रहे हैं.. शायद । 
धीरे-धीरे रात जवाँ हो रही हैं… शाम को प्रारंभ हुई बारिश अबतक रूक चुकी हैं। बिजली रानी की आंखमिचौली अबतक जारी हैं। थोड़ी बारिश क्या हुई, ऐसा प्रतीत होता मानो बिजलियाँ के जेठ या मामा-ससुर आये हो।
मंदिम-मंदिम पवन हिलोरे मारते हुए..मन मस्तिष्क को स्पर्श करके नवीन जीवन का संचार कर रही हैं…।
दिन भर की भाग दौड़ से उत्पन्न थकान चांदनी रात में हौले हौले अपना आस्तित्व खो रही हैं…। 
शीतलता समाहित पवन सहला रही हैं , बालों को । गतिशील झोकों से उड़ते-बिखरते-सवरते सहलाते बालो से ऐसा प्रतीत हो रहा हैं, मानो ये सिर्फ पवन का झोखा नही, अपितु प्रेमिका के कोमल हाथों से सिर की झपकी हो रही हो… ये बहती हवाओं  की सरसराहट नही, अपितु उसके द्वारा गुनगुनाया संगीत हो । सरल शब्दों में मानो वो जीवंत प्रकट होकर प्रकृति के संग अंगराई ले रही  हो। 
काले बादलों के छटने से साफ सुथरे गगन में चंद्रमा की शीतल पीली रोशनी  के बढ़ने के साथ साथ Hostel के छत पर लौंडो की Density भी गहरी हो  रही हैं…! कोई इस कोना तो कोई उस कोना, कोई दीवाल से लग खड़ा हैं तो दूसरा बारिश से अभी-अभी साफ हुए फर्श में अजगर की भाति लेटा हैं । 
कुछ के कान सफेद Samsung earphones से बंद हैं…..वही कुछ रंग बिरंगे Chinese earphones से ही खुश हैं…!
कुछ को ब्रांड का गुरुर हैं तोह कुछ को अपनी जियो (प्रेमिका) का…!
अपने राष्ट्रवादिता और देशप्रेम को दिखाने के लिए चीन और पाकिस्तान का गालियों से मौखिक बलत्कार करने वाले ये क्रन्तिकारी मजनु ब्रांड के चक्रव्यूह मे ये पढ़ना भूल गए शायद…माइक पर साफ-साफ लिखा हुआ हैं 
“Made in China”
ऐसे भी जब आप प्यार में होते हैं….
तोह ये छोटी बड़ी चीजे Meaningless होती हैं..
बस वो और उनसे जुड़ी हरेक छोटी बड़ी बातों को छोड़कर….
इस चांदनी रात में हरेक आशिक़ एक-एक कोणे पर पलथी मार के बैठा हैं और कुछ कुंडली भी…
कुछ जोर जोर से बात कर रहे हैं….शायद सबको बताना चाहते हैं…
वही कुछ फुसफुसा रहे है…
“प्यार किया तोह डरना क्या”
पर यदि Debate हो जाये…दावे के साथ कह सकता हूँ…Conclusion बड़ा ही मजेदार होगा…इन आशिकों की बस्ती में |
सब मंझे खिलाड़ी जो ठहरे…|
अब बात करते हैं STD और Local calls के बारे मे..!
कुछ मिलो दूर राह ताकती प्रेमिका को जल्द मिलने का दिलासा दे रहे है, बाकी Girls hostel की डिम्पल और पिम्पल वाली सिम्पल से सिम्पली अपना प्यार जता रहे हैं..!
कुछ गरीब type के लड़के(कंजूस कहना ज्यादा उत्तम होगा) 2G में 4G की चाह लिए Mobile Operator Company को गरिया रहे हैं…साथ ही University को भी…! Massage जो forward नही हो रहा हैं
WhatsApp में…
hike और Facebook पानी माँग रहे है…
Mobile की battery एग्जाम में कम प्रतिशत अंक प्राप्त किये बच्चे की भांति रोना start कर चुकी हैं…!
इन तमाम दुविधाओं के बीच आपको कुछ लड़ते दिख जाएंगे अपनी मसुका से..! कुछ प्यार जताते मिल जायेंगे,
“मू तुमकु भलो पाउछि”
“I Love you”
“हम तुमको इतना प्यार करते हैं, इतना प्यार करते हैं,……….
सीना चिर के दिखाए हनुमान जी की तरह…कितना प्यार करते हैं..।”
बरसात हो रही हैं..थोड़ी सच्ची और ढेर सारी झूठी वाली….प्यार के साथ साथ…सच्चाई की संभावना से कोशो दूर या समीप के प्रश्नचिन्ह को दरकिनार करते हुए..!
निंदिया रानी का भी लगातार आँखो पर हमला जारी हैं …
‘Good Night’ के साथ साथ
‘Miss you’
‘Take care’
‘Sweet dreams’ वाले अंग्रेजी शब्द् ये इंगित कर रहे हैं कि रात के 2 बज चुके हैं और रात की जवानी ढलना प्रारम्भ कर चुकी हैं…|
शायद
अगले दिन फिर जाना हैं Class करने और उनका दीदार करने के लिए भी… जो class करनेे से ज्यादा महत्वपूर्ण हैं…उनके लिए..|
चांदनी वाली Night हो या
अमावस की भूतनी अंधेरा वाली…रात
धन्य है ये छत..ज़हाँ daily चोपाल सजती हैं
अशिको की…
आइये किसी दिन हमारे होस्टल मे….
Mobile में Network के लिए संघर्ष…और जद्दोजहद
के बाद अपनो से बात कर लेना विजयी सम्राट वाला
Feeling feel करवाता हैं…|


©पवन बेलाला 2017


 

Advertisements

20 thoughts on “Live Reporting from Hostel के छत से…

  1. बरसात हो रही हैं..थोड़ी सच्ची और ढेर सारी झूठी वाली….प्यार के साथ साथ…सच्चाई की संभावना से कोशो दूर या समीप के प्रश्नचिन्ह को दरकिनार करते हुए..—क्या बात पवन जी कहानी गढ़ना कोई आपके सीखे—-वो भी सच्चाई को स्पर्श करते हुए—-लाजवाब।👌👌👌

    Liked by 1 person

  2. Live Reporting from Hostel के छत से- भूभाऊ भूभाऊ भू भू भू से शुरू करके अन्त तक जिस तरह उलझाए रखा है पाठक को, और जितने जीवन्त और सटीक बिम्ब प्रस्तुत किये हैं – बधाई… बहुत खूबसूरत रचना…

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s