Sticky post

चुनावी सर्दी में दलित बजरंगबली


“बजरंगबली एक ऐसे लोक देवता हैं, जो स्वयं वनवासी हैं, निवासी हैं, दलित हैं, वंचित हैं. भारतीय समुदाय को उत्तर से लेके दक्षिण तक, पूरब से पश्चिम तक, सबको जोड़ने का काम बजरंगबली करते हैं।” उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा अलवर जिले के मालाखेड़ा की एक चुनावी रैली में बड़बोले बयान के बाद सोशल मीडिया पर भूकंप और मुख्यधारा की मीडिया में सुनामी … Continue reading चुनावी सर्दी में दलित बजरंगबली

मनाही हैं !


कई साल बीते, कुछ महीने छूटे, सप्ताह-दिनों की तो आनी जानी हैं। जीवन के उस अधूरे हिस्से में आज भी, सबके आने की मनाही हैं। सावन-भादो सब बीत गया, होठों पे मुस्कान बेमानी हैं। आम पीपल सब ठूंठ हो गए, नदी रेत से मांगे पानी हैं। सिसकतीं ख्वाइशे, तन्हाई और रुसवाई में, चर्चाओं का चनाचूर गरम हैं। महफ़िलो में सुकून-ए-दिल भी बेंच, रात की आहटों … Continue reading मनाही हैं !