निकलो न बेनक़ाब, ज़माना खराब है..!


Mujhko lambi umar ki dua na do jitni ghuzri nagawar ghuzri.… निकलो न बेनक़ाब, ज़माना खराब है और उसपे ये शबाब, ज़मान खराब है..! सब कुछ हमें खबर है..नसीहत न कीजिये, क्या होंगे हम खराब, ज़माना खराब है, और उसपे ये शबाब, ज़मान खराब है..! पीने का दिल जो चाहे, उन आँखों से पीजिए, मत पीजिए शराब, ज़माना खराब है…. और उसपे ये शबाब, ज़मान … Continue reading निकलो न बेनक़ाब, ज़माना खराब है..!

हम पैसे लेकर एजेंडा चलाते हैं…!


यहां पैसे लेकर हिन्दू-मुस्लिम, स्वर्ण-दलित, बीजेपी-कांग्रेस के एजेंडे चलाये जाते हैं। #नोट: हमारे राष्ट्रभक्ति-देशद्रोही के क्रेस कोर्स में अभी दाखिला ले और पाए upto 50% तक का आरक्षण😋। यदि आपके आसपास किसी बहन-बेटी का बलात्कार होता हैं, तो ऐसी घटनाओं को भगवा, हरा या नीला रंग में रंगकर हिन्दू, मुस्लिम या दलित एजेंडा बनाने के लिए निशुल्क संपर्क करें। भारत के विभिन्न गांव-शहरों से हमारी … Continue reading हम पैसे लेकर एजेंडा चलाते हैं…!

ऐई हमारी आलिया भट्ट…😍


ऐई हमारी आलिया भट्ट, कैसे हो रे, तुम…? आज पूरा एक हफ्ता हो गया, हम दोनों के बतियाये। तुम ही तो लड़ाई-झगड़ा करके बातें नहीं करने का कसम दी थी। फ़ॉर योर काइंड इन्फॉर्मेशन, हम ई कसम-वसंम को रत्ती भर मानते नहीं, बस वो तुम्हारे प्यार के वास्ता के कारण अपना हाल खास्ता करके खामोश बैठें हैं। हाँ, माना कि हमसे अतिउत्साहित होकर, उस शाम … Continue reading ऐई हमारी आलिया भट्ट…😍

Let’s celebrate चप्पलियाँ डे 👡


हमारे भारत जैसे विकाशील सोच वाले देश में, प्यार करना काफी मुश्किल हैं और प्यार में अपने प्रेमी संग एक खूबसूरत छायायुक्त घोसला स्थापित करना लगभग असंभव सा। आर्ट्स और कॉमर्स वाले तो फिर भी जी लेते हैं, किंतु विज्ञान से साइंस में एडमिशन लिये अधिकांश क्रांतिकारी गबरू जवान प्रेमपाश के इस केमेस्ट्री में Below 33% जैसे दर्दनाक मार्क्स के साथ पीटने के बाद मुँह … Continue reading Let’s celebrate चप्पलियाँ डे 👡